पिम्पल्स हटाने के 10 घरेलू नुस्खे

अक्सर हम पिम्पल्स से छुटकारा पाने के लिए उन्हें दबाकर निचोड़ने की कोशिश करते हैं। लेकिन कई एक्सपर्ट्स इसके लिए मना करते हैं।

चूँकि किसी वाइट हेड या ब्लैक हेड को दबाकर निचोड़ना कभी-कभी काम कर सकता है, लेकिन पिम्पल्स के मामले में यह स्थिति को और ज्यादा बिगाड़ सकता है। इससे इन्फेक्शन होने की सम्भावना बढ़ जाती है और पिम्पल के आसपास की स्किन डैमेज होने का खतरा रहता है।

पिम्पल्स स्किन में होने वाले इंफ्लामेशन होते है जिन्हें बैक्टीरिया फैलाते हैं। यह बैक्टीरिया बालों की जड़ों में मौजूद sebaceous नामक आयल ग्लांड्स में पाए जाते हैं।

पिम्पल्स तब होते हैं जब ग्लांड्स ओवरएक्टिव हो जाती हैं और स्किन के छिद्र किसी कारण बंद हो जाते हैं। शरीर में सेक्स हॉर्मोंस और एंड्रोजन का स्त्राव बढ़ने से भी पिम्पल्स होने की सम्भावना बढ़ती है। इसके अलावा, ऑयली खाना खाने से, कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से, स्किन की ठीक से देखभाल न करने से और hereditary factors के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

पिम्पल्स की साइज अलग-अलग हो सकती है और यह ज्यादातर चेहरे, पीठ, कन्धों, गर्दन और छाती पर होते हैं । ऑयली स्किन वाले व्यक्तियों में पिम्पल्स होने की सम्भावना ज्यादा होती है, लेकिन यह सूखी या नार्मल स्किन में भी होते हैं।

आमतौर पर यह समस्या 12 से 20 वर्ष की आयु के व्यक्तियों में होती है क्योंकि इस दौरान उनमें यौवन आना शुरू हो जाता है और उनके शरीर में कई हार्मोनल बदलाव आते हैं।

वास्तव में, 80% किशोरावस्था वाले व्यक्तियों को कभी न कभी इस समस्या से गुजरना पड़ता है।

वयस्क व्यक्तियों में भी पिम्पल्स हो सकते हैं।

आप चाहें तो डॉक्टर से कुछ मेडिसिन्स लेकर इनसे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन कुछ प्राकृतिक घरेलू नुस्खे भी इनको ठीक करने में काफी कारगर होते हैं। पिम्पल्स को दबाकर या निचोड़कर काला धब्बा बनाने से अच्छा है इन नुस्खों को अपनाएं।

यहाँ पर पिम्पल्स हटाने के 10 सबसे कारगर घरेलू निस्खे दिए जा रहे हैं -

1. नींबू का रस

नींबू का रस काफी कारगर तरीके से कुछ ही दिनों में पिम्पल्स को हटा सकता है। इसमें अत्यधिक मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो हर प्रकार की स्किन के लिए फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एसिडिक प्रॉपर्टीज स्किन को exfoliate करने में मदद करती हैं।

साथ ही, इसमें स्किन को बाँधने वाले गुण होते हैं जो पिम्पल्स को सुखाकर जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं।

  • ताजा नींबू के रस में रुई के टुकड़े को भिगोकर अपने पिम्पल्स पर लगाएं। फिर इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर हल्के गर्म पानी से साफ़ कर लें। कुछ दिनों के लिए इस प्रक्रिया को दिन में दो तीन बार दोहराएं।
  • या फिर, नींबू पानी और गुलाब जल को बराबर मात्रा में लेकर मिला लें। इस मिश्रण को अपने पिम्पल्स पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर अपने चेहरे को गर्म पानी से धो लें। इस उपचार को एक हफ्ते के लिए रोज दो बार करें।
  • या फिर, एक चम्मच मूँगफली के तेल में डेढ़ चम्मच नींबू का रस मिलाकर प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। इसे सूखने तक इंतजार करें और फिर गर्म पानी से धो लें। इस उपचार को भी एक हफ्ते के लिए रोज दो बार करें।

नोट : अच्छे और तेजी से परिणाम पाने के लिए ताजा नींबू के रस का उपयोग करें, जिसमें बहुत सारे संरक्षक पदार्थ पाए जाते हैं।

2. टूथपेस्ट

अपने दाँत साफ करने के लिए आप जिस टूथपेस्ट का उपयोग करते हैं उसे पिम्पल्स हटाने में भी उपयोग किया जा सकता है। टूथपेस्ट में बेकिंग सोडा, हाइड्रोजन पेरोक्साइड, अल्कोहल और मेंथोल पाया जाता है जो पिम्पल्स को सुखाकर जल्दी हटाने में मदद करता है। लेकिन आपको सिर्फ सफ़ेद टूथपेस्ट का ही इस्तेमाल करना है। रंगदार टूथपेस्ट या जेल का इस्तेमाल न करें।

  1. थोड़े से सफेद पेस्ट को ऊँगली पर लेकर पिम्पल्स पर लगाएं।
  2. अब इसको दो घंटे या रातभर के लिए लगा रहने दें।
  3. अब इसे रफ़ कपड़े से साफ करते हुए धो लें।
  4. सूखने के बाद इन पिम्पल्स पर मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगा लें।
  5. इस उपचार को एक या दो हफ़्तों के लिए रोज करें।

नोट : यदि टूथपेस्ट के इस्तेमाल के आपको जलन हो रही है, किसी अन्य नुस्खे को अपनाएं।

3. लहसुन

लहसुन में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज और सल्फर पदार्थ होने के कारण, इसको भी पिम्पल्स के इलाज में एक कारगर घरेलू नुस्खा माना जाता है। साथ ही, इसमें एंटीबायोटिक एंटीफंगल और अन्य हीलिंग प्रॉपर्टीज होती हैं।

  • एक लहसुन की कली को बीच में से सीधा काट लें और अपने पिम्पल्स पर रब करें। अब इस 5 से 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फि धो लें। कुछ दिनों के लिए इस उपचार को रोज दो-तीन बार करें।
  • अपने रक्त को साफ करने के लिए आप रोज दो तीन लहसुन की कलियों का खाली पेट सेवन भी कर सकते हैं। रक्त साफ होने से भी पिम्पल्स को जल्दी ठीक करने में मदद मिलती है।

4. भाप लें

भाप पिम्पल्स सहित कई मुंह की स्किन की छोटी-छोटी समस्याओं को ठीक करने में मदद करती है।

भाप स्किन के बंद हुए छिद्रों को खोलती है, जिससे उसे सांस लेने में मदद मिलती है। साथ ही, स्किन के अंदर फंसे बैक्टीरिया, धूल और आयल को छिद्रों के जरिये बाहर निकालने में मदद मिलती है।

  1. एक बड़े बर्तन में पानी गर्म कर लें। अब इसके तापमान को थोड़ा कम दें ताकि इसकी भाप से आपकी स्किन जले नहीं।
  2. अब अपने चेहरे को पानी से निकलने वाली भाप के ऊपर कर लें और अपने सिर पर एक टॉवल डाल लें ताकि भाप आसपास व्यर्थ न जाए।
  3. 10 से 15 के लिए भाप लेने के बाद हट जाएँ और चेहरा सूखने के बाद इसमें मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगा लें।
  4. अपने चेहरे के पिम्पल्स जड़ से मिटाने के लिए और स्किन को चमकदार बनाने के लिए, इस प्रक्रिया को चार या पांच दिन के लिए रोज दो बार दोहराएं।

5. आइस पैक

आइस (बर्फ) प्रभावित क्षेत्र में रक्त के संचार को ठीक करके पिम्पल्स हटाने में मदद करता है। यह रोम छिद्रों को फ्रीज करके खोलने में भी मदद करता है, जिसके फलस्वरूप स्किन में मौजूद आयल और धूल को बाहर निकालने में मदद मिलती है। पिम्पल्स के कारण होने वाले दर्द इंफ्लामेशन को भी आइस कम करने में मदद करेगा।

  1. एक साफ कॉटन के कपड़े में आइस के टुकड़ों को बाँध लें और धीरे-धीरे प्रभावित क्षेत्र में रब करें।
  2. कुछ सेकण्ड्स ऐसा करने के बाद एक-दो मिनट के लिए रुक जाएँ और फिर दोबारा करें।
  3. इस प्रक्रिया को रोज करें।

नोट : आइस को सीधे अपनी स्किन पर न लगाएं क्योंकि इसके कारण आइस बर्न बन सकते हैं।

6. हल्दी

हल्दी में एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो पिम्पल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारती हैं।

यह एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट भी होती है, जो पिम्पल्स के इंफ्लामेशन को कम करने में मदद करती है।

  • डेढ़ चम्मच हल्दी के पाउडर में कुछ चम्मच पानी डालकर मोटा पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को प्रभावित स्किन पर लगाएं और कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद स्किन को पानी से धो लें। इस उपचार को एक हफ्ते के लिए रोज दो बार करें।
  • या फिर, डेढ़-डेढ़ चम्मच हल्दी का पाउडर और धनिया के रस को मिलाकर मोटा पेस्ट बना लें। अब अपने पिम्पल्स पर इस पेस्ट का थपका ला लें और सूखने तक इंतजार करें। दिर इसे धो लें। इस उपचार को भी हफ्ते भर के लिए रोज दो बार करें।
  • आप एक चम्मच हल्दी को एक गिलास दूध में मिलाकर सेवन भी कर सकते हैं। रोज सोने से पहले इसका सेवन करने से पिम्पल्स नहीं होते।

7. दालचीनी

दालचीनी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं, इसलिए इसे भी पिम्पल्स ठीक करने में काफी फायदेमंद माना जाता है।

  1. एक चम्मच दालचीनी के पाउडर में तीन चम्मच शहद डालकर मोटा पेस्ट बना लें।
  2. इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र में लगाकर 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  3. फिर इसे गर्म पानी से धो लें और सूखने के बाद मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगा लें।
  4. दो हफ़्तों के लिए इस उपचार को रोज करें।

8. सेब का सिरका

सेब के सिरका में प्राकृतिक एंटीबायोटिक और बंधनकारी गुण होते हैं जो इसे पिम्पल्स के इलाज में एक कारगर घटक बनाते हैं। साथ ही, इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुण पिम्पल पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारते हैं।

इसके अलावा, यह स्किन के उचित pH लेवल को बनाये रखने में मदद करता है, जिससे बैक्टीरिया को फलने-फूलने में परेशानी होती है।

  1. बिना फ़िल्टर किये हुए सेब के सिरके को तीन गुना पानी में मिलाएं।
  2. अब इसमें एक रुई के टुकड़े को भिगोकर प्रभावित क्षेत्र में लगाएं।
  3. 10 के लिए छोड़ दें और फिर पूरे चेहरे को पानी से धो लें।
  4. तेजी से परिणाम पाने के लिए इस उपचार को दिन में दो-तीन बार करें।

9. संतरे का छिलका

संतरे के छिलकों में बंधनकारी गुण होते हैं जो स्किन के रोम छिद्रों को बंद करने वाले आयल और डेड स्किन सेल्स को हटाते हैं।

यह पिम्पल्स को जल्दी सुखाने में भी मदद करते हैं।

साथ ही, इसमें विटामिन सी होता है जो नए हेल्थी स्किन सेल्स की ग्रोथ को बढ़ावा देता है।

  1. संतरे के छिलकों को सुखा लें और पीसकर पाउडर बना लें।
  2. इस पाउडर में थोड़ा सा पानी डालकर पेस्ट बना लें।
  3. पेस्ट को अपने पिम्पल्स पर लगाएं और 15-20 के लिए छोड़ दें।
  4. उचित परिणाम प्राप्त करने के लिए इस उपचार को हफ्ते भर तक रोज एक बार करें।

10. नीम की पत्तियां

नीम में एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और रक्त को शुद्ध करने वाले गुण होते हैं और इसे सबसे अच्छी प्राकृतिक बंधनकारी औषधियों में से एक माना जाता है।

नीम पिम्पल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है और इन्हें दोबारा पैदा होने से रोकता है।

  • कुछ ताजा नीम की पत्तियों को लें और अच्छे से पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट में डेढ़ चम्मच हल्दी का पाउडर मिला दें। फिर इसे प्रभावित स्किन पर लगाएं और 20 मिनट के बाद गर्म पानी से धो लें।
  • रिकवरी को तेज करने के लिए आप रोज दो बार अपने पिम्पल्स पर नीम आयल भी लगा सकते हैं।
  • पिम्पल्स से बचने के लिए आप रोज खाली पेट ताजा नीम की पत्तियों को चबाकर खा भी सकते हैं या इसके सप्लीमेंट्स ले सकते हैं।

अगली बार जब भी आपको अपने चेहरे पर पिम्पल दिखाई दे तो इन सरल घरेलू उपचारों को अपनाएं। जल्द ही आपकी स्किन दोषरहित हो जाएगी और इसमें ग्लो आने लगेगा।